Saturday, July 13, 2024
Home > tech terms > What is Bandwidth in Hindi ? Bandwidth vs Speed

What is Bandwidth in Hindi ? Bandwidth vs Speed

What is bandwidth? differnce between bandwidth and internet speed

What is Bandwidth in hindi ?  

Internet की दुनिया में, ये शब्द आप बार बार सुनते होंगे, bandwidth ज्यादा है कि कम है ? इंटरनेट स्पीड कम है कि ज्यादा है? बहुत सारे लोग bandwidth और internet स्पीड को एक जैसा समझते हैं । लेकिन ऐसा नहीं है । bandwidth और internet अलग अलग हैं ।

इस article में हम डिटेल से दोनों के बारे में जानेंगे । bandwidth क्या है ? इसका स्पीड से क्या relation है ।

What is Bandwidth in Hindi ?

Bandwidth is the maximum amount of data that can be transmitted over an internet connection in a given amount of time.

जब किसी इंटरनेट कनेक्शन पर एक साथ अधिक से अधिक मात्रा में डाटा का ट्रांसफर हो सके, वही bandwidth है ।

आप इसे highway की तरह सोच सकते हैं। जितना ज्यादा चौड़ा रोड (Bandwidth) होगा, उतना ज्यादा car/bus (data) उस रोड पर एक साथ जा सकेंगी ।

ये स्पीड से कैसे अलग है, इसके बारे में डिटेल से नीचे दिया गया है ।

Bandwidth को  bits per second (bps), से नापा जाता है ।

– Kilobits per second (Kbps): 1,000 bits per second
– Megabits per second (Mbps):-  1,000,000 bits per second
– Gigabits per second (Gbps): –  1,000,000,000 bits per second

Bandwidth इतना जरुरी क्यों है ? Why bandwidth is important?

Faster internet speed: जितना ज्यादा बैंडविड्थ उतना ज्यादा इंटरनेट स्पीड। ज्यादा बैंडविड्थ  से downloading , video streaming , website लोडिंग  बहुत तेज़ी से होता है

Multiple device usage:  ज्यादा  बैंडविड्थ होने से आप बहुत सारे device कनेक्ट कर सकते हैं, बिना किसी डिवाइस का स्पीड को कम किये ।

Better video and audio quality:  बैंडविड्थ ज्यादा रहने से, आप इंटरनेट पर HD वीडियो streaming कर सकते हैं  ।

Online gaming:  Online gaming के लिए ज्यादा बैंडविड्थ चाहिए, ताकि आपका gameplay smooth चल सके और लैग न करे ।


Also read : 5 वेबसाइट प्रोग्रामर के लिए | top 5 website for programmers in hindi

Also read : 18 technology facts will blow your mind | टेक्नोलॉजी तथ्य


Difference between Bandwidth and Internet speed :

ISP हमेशा आपको जो स्पीड बताते हैं, कि आपका इंटरनेट का स्पीड 10MBPS है । वो हक़ीक़त में bandwidth होता है । क्यों कि ज्यादातर लोग बैंडविड्थ  और स्पीड के बारे में समझ नहीं पाते हैं, इसलिए ISP bandwidth को स्पीड बताते हैं, ताकि आप इस झंझट में ना पड़ें ।

 

जब किसी इंटरनेट कनेक्शन पर अधिक से अधिक डाटा को एक साथ ट्रांसफर किया जा सके, उसे bandwidth कहते हैं और Internet speed का मतलब होता है, कि डाटा कितना तेज़ी से ट्रांसफर हो रहा है ।

 

चलिए 2 example से समझते हैं ।

पहला –

एक 10 len वाला Highway (bandwidth) है । उसमे  एक साथ 10 कार (data)  जा सकती है, जाम होने का चांस कम होता है और कार भी तेज़ी से जाएगी । अगर उस highway में 15-20 कार कर दिया जाय तो सभी कार का स्पीड कम हो जायेगा ।

उसी तरह से जिस इंटरनेट कनेक्शन का ज्यादा बैंडविड्थ  होता है, उसमे हम एक साथ बहुत सारा  device को कनेक्ट कर सकते हैं, सभी डिवाइस में स्पीड अच्छा रहेगा ।

अगर एक इंटरनेट कनेक्शन का बैंडविड्थ 100 Mbps है और 3 डिवाइस कनेक्टेड है, तो तीनो डिवाइस को 33Mbps का स्पीड मिलेगा, और सब आसानी से downloading , uploading , Video streaming कर सकेंगे, लेकिन अगर हम 50 डिवाइस को connect कर दें, तो सबको 2 Mbps का स्पीड मिलेगा । सभी को दिक्कत होगा, स्पीड नहीं मिलेगा, नेटवर्क जाम हो जायेगा ।

10 लेन वाला हाईवे में एक कार जाए तो वो काफी स्पीड से जा सकता है, लेकिन अगर 20 – 30 कार आ जाये, तो सभी कार धीरे धीरे जाएँगी ।

बैंडविड्थ को आप एक road मान लीजिये, जितना ज्यादा ये चौड़ा होगा उतना ज्यादा car/bus जा सकेंगी और तेज़ी से जा सकेंगी ।

 

दूसरा example :

सबसे पहले कल्पना कीजिये, बैंडविड्थ एक waterpipe है । हमलोग तीन water pipe इस्तेमाल करेंगे । पहला ज्यादा मोटा pipe optical fiber , दूसरा medium size pipe केबल, और तीसरा सबसे छोटा साइज वाला DSL . सभी pipe के नीचे एक बाल्टी राखी हुई है, जो आपका data को download करेगा ।

अब कल्पना कीजिये, data को digital पानी के रूप में , जो एक निर्धारित speed से पाइप से पार होगा ।

एक इंटरनेट का सर्विस देने वाला कंपनी, आपका डाटा को control कर सकता है, आपको पानी (data) कितना मिलेगा, उसको कम कर सकता है, इसका परिणाम ये होता है, कि आप कोई भी pipe का इस्तेमाल कर लें, आपका बाल्टी भरने में पूरा दिन लग जायेगा । ये उदहारण है, slow download speed का ।

अगर इंटरनेट देने वाली कंपनी ने, पानी देने का छमता को maximum कर दिया, पानी पूरा गति से छोड़ दिया जाए, तो आपका pipe (bandwidth) बताएगा कि कौन सा बाल्टी जल्दी भरेगा और कौन सा बहुत धीरे।

जिस पाइप का चौड़ाई ज्यादा होगा उसमे ज्यादा पानी जायेगा, उसका बाल्टी जल्दी भरेगा । और जिसका पाइप का चौड़ाई सबसे कम होगा, उसमे पानी कम जायेगा, तो उसका बाल्टी देर से भरेगा ।

 

संक्षेप में कहा जाये, Bandwidth ही internet speed को control करता है ।

Internet देने वाली कम्पनियाँ, बैंडविड्थ को ही इंटरनेट स्पीड बताती है।  5000 Mbps बैंडविड्थ वाला fibre कनेक्शन वाला एक  डिवाइस,  140 Mbps  बैंडविड्थ  वाला fibre connection की तुलना में ज्यादा स्पीड से किसी भी बड़ी फाइल को download करेगा ।

 

 

 

 


 

गगनयान: भारत का पहला मानव अंतरिक्ष मिशन Websites that changed the world Useful website for students you must know TOP AI tools which are very helpful. Top 5 Space Agencies Leading the Race to the Stars in 2024
गगनयान: भारत का पहला मानव अंतरिक्ष मिशन Websites that changed the world Useful website for students you must know TOP AI tools which are very helpful. Top 5 Space Agencies Leading the Race to the Stars in 2024