Wednesday, October 20, 2021
Home > tech terms > Seeders और Leechers क्या है ? Peers क्या होता है ?

Seeders और Leechers क्या है ? Peers क्या होता है ?

Seeders और Leechers

Seeders और Leechers क्या है ? Peers क्या होता है ? :  आप अक्सर इनके बारे में सुनते हैं, जब भी आप torrent से कुछ डाउनलोड करते हैं, तो आप इनके बारे में सुनते हैं। आप वहाँ पर देखते हैं कि seeds , Leechs , seeders , Leechers , Peers ये सारे चीज़ें होती हैं ।

क्या आपने कभी इनके बारे में जानने की कोशिश किया कि seeders और leechers क्या है ? peers क्या है ? अगर नहीं तो फ़िक्र मत कीजिये, इस पोस्ट में मैंने सबके बारे में पुरे विस्तार से बताया है। पूरा पोस्ट पढ़िए ।

 

Seeders और Leechers क्या है ? 

दोनों के बारे में एक एक करके जानते हैं ।

Seeders क्या है ?

seeders / सीडर्स  वो यूजर होता है, जो टोरेंट फाइल को डाउनलोड कर लेता है और फिर वो फाइल डाउनलोड पूर्ण होने के बाद, उस फाइल को दूसरों के साथ शेयर  करता है या फिर वो यूजर उस फाइल को उपलोड कर देता है तो उस यूजर को seeders बोलते हैं ।

सीडर्स वो इंसान  होता है, जो फाइल को सिर्फ अपलोड  करता है ।

आप टोरेंट पर देखते होंगे, कि जब भी पूरी फाइल डाउनलोड हो गयी है, उसके बाद वह पर seeding लिखा हुवा आता है, seeding का मतलब कि वो फाइल अपलोड हो रहा है ।

आप टोरेंट वेबसाइट पर देखते होंगे seeds कॉलम के निचे नंबर लिखे होते हैं। अगर seed पर 500 लिखा हुवा है, तो 500 लोग उस फाइल को शेयर कर रहे है। 500 लोग उस फाइल को अपलोड कर रहे है।

अगर seed 0 होता है, तो इसका मतलब कोई भी इंसान उस फाइल को शेयर नहीं कर रहा है । जितना ज्यादा सीड उतना ज्यादा अच्छा से आपका फाइल डाउनलोड होगा ।

Leechers क्या है ?

leechers / लीचर्स वो यूज़र्स होते है, जो फाइल को सिर्फ डाउनलोड करते हैं । ये फाइल को किसी के साथ शेयर नहीं करते हैं । ये बस फाइल को डाउनलोड कर के बंद कर देते हैं ।

लीचर्स वो जोंक की तरह होता है, जो बस खून चूसता है । यह नाम भी leech से लिया गया है । लीच जितना काम हो उतना अच्छा है । फाइल ज्यादा तेज़ी से डाउनलोड होगा ।

अगर कोई भी फाइल में सिर्फ लीचर्स ही होगा, तो आपका फाइल डाउनलोड बहुत धीरे होगा या फिर डाउनलोड ही नहीं होगा ।

 

Peers क्या है ?

Peers / पीअर्स वो यूज़र्स होते हैं  जो फाइल के शेयरिंग होने की गतिविधि में शामिल होते हैं । ये वो यूज़र्स होते हैं, जो फाइल को डॉउनलोडिंग के साथ साथ फाइल को अपलोडिंग भी करते हैं । 

इन यूज़र्स को फाइल देने के साथ साथ फाइल लेना भी होता है । इसलिए इनका काम एक साथ होता है ।

पीअर्स कम रहे और सीडर्स ज्यादा रहे तो फाइल बहुत ही अच्छे से डॉउनलोडिंग होता है । उस टोरेंट फाइल का हेल्थ भी अच्छा होता है।

 

इसे भी पढ़ें : Full Stack Developer क्या होता है? Full Stack Developer कैसे बने? इसके फायदे।

ise भी पढ़ें : बिना कोडिंग का वेबसाइट कैसे बनता है ? Website without coding